Saturday, October 10, 2009

"हमें माफ़ करना"

हमसे गर तुम खफा हो, तो हमें माफ़ करना,
जो हमसे हुई कोई खता हो तो हमें माफ़ करना,
ख़ुशी के बदले जो दिया हो गम् हमने तुम्हे,,,
जो की ना वफ़ा हो तो हमें माफ़ करना,
हो कल सभी किसी खुशनुमी महफिल में,वहा हम ना पहुचें तो हमें माफ़ करना,
हर ख़ुशी के बीच से निकल कर जो तुम्हे आना पड़े हमारे गमे महफिल में तो "हमें माफ़ करना"

3 comments:

SpLeNdIfErOuS said...
This comment has been removed by the author.
dil se said...

thnx dear :)

julie said...
This comment has been removed by the author.